तो आप घबराएं नहीं इसके लिए हम और आप मिलकर zerodha margin calculator के बारे में जानकारी लेंगे | जिसके माध्यम से आप किसी भी स्टॉक मैचुअल फंड या zerodha के अन्य किसी भी प्रोडक्ट में क्या बेनिफिट आपको मिल रहा है! और कैसे आपको पैसे इन्वेस्ट करना है|

Top 10 Demat Account

क्या है निफ्टी-50 और इसमें कैसे होता है शेयरों का चुनाव

निफ्टी-50 नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड भारत की टॉप 50 कंपनियों के भारित औसत का प्रतिनिधित्व करता है। वास्तव में निफ्टी-50 नेशनल स्टॉक एक्सचेंज 50 की शॉर्ट फॉर्म है। निफ्टी-50 एक मार्केट इंडेक्स है। निफ्टी को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज द्वारा साल 1996 में लाया गया था।

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। जब हम शेयर मार्केट में इनवेस्टमेंट, ट्रेडिंग, बुल, बेयर, इक्विटी आदि की बात कर रहे होते हैं, तो वास्तव में हम निफ्टी या सेंसेक्स के बारे में बात कर रहे होते हैं। निफ्टी और सेंसेक्स भारत की सबसे बड़ी लिस्टेड कंपनियों को दर्शाते हैं। साथ ही ये भारतीय अर्थव्यवस्था की लॉन्ग टर्म हेल्थ का अनुमान लगाने के लिए एक बैरोमीटर का भी काम करते हैं। आज हम निफ्टी-50 की बात करने जा रहे हैं। हम जानेंगे कि इसका क्या मतलब है और इसमें कौन-सी कंपनियां शामिल होती हैं। यहां बताते चलें कि 5पैसा डॉट कॉम फाइनेंशियल प्लानिंग के लिए एक बेहतर प्लेटफॉर्म है। यहां आप म्यूचुअल फंड में भी पैसा लगा सकते हैं। खास बात यह है कि यहां जीरो ब्रोकरेज की सुविधा मिलती है।

निफ्टी 50 क्या ऑप्शंस ट्रेडिंग के लिए कौन सी ब्रोकरेज अच्छी है? है?

निफ्टी-50 नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड भारत की टॉप 50 कंपनियों के भारित औसत का प्रतिनिधित्व करता है। वास्तव में, निफ्टी-50 नेशनल स्टॉक एक्सचेंज 50 की शॉर्ट फॉर्म है। निफ्टी-50 एक मार्केट इंडेक्स है। किसी भी इंडेक्स की तरह यह ब्लूचिप कंपनियों में इनवेस्टमेंट होल्डिंग्स के एक पोर्टफोलियो का प्रतिनिधित्व करता है। इसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज, भारतीय स्टेट बैंक, मारुति सुजुकी, टीसीएस, एशियन पेंट्स और 45 दूसरी इंडस्ट्री लीडिंग कंपनियां शामिल है। कई सारे म्यूचुअल फंड्स निफ्टी को अपने बेंचमार्क के रूप में यूज करते हैं। निफ्टी को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज द्वारा साल 1996 में लाया गया था।

निफ्टी के पास अपनी कंपनियां चुनने के लिए एक बहुत अच्छी तरह परिभाषित और पारदर्शी कार्यप्रणाली है। इस सलेक्शन प्रोसेस को हम चार पार्ट्स में देख सकते हैं। यूनिवर्स ऑफ कंपनीज, बेसिक कंस्ट्रक्ट, लिक्विडिटी रूल्स, रीबैलेंसिंग और कॉन्स्टिट्यूशन रूल्स। निफ्टी का हिस्सा बनने के लिए किसी कंपनी को पहले नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट होना पड़ता है। कंपनी एनएसई के फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस सेगमेंट में ट्रेडिंग के लिए भी उपलब्ध रहनी चाहिए। बेसिक कंस्ट्रक्ट की बात करें, तो चुनी हुई कंपनी फ्री-फ्लोट मार्केट कैप के मामले में टॉप 50 कंपनीज में शामिल होनी चाहिए। तीसरी चीज है लिक्विडिटी और यहां केवल उन कंपनियों को चुना जाता है, जिनकी ट्रेडिंग वॉल्यूम हमेशा उच्च होती है। आखिरी है सेमी-एनुअल रीबैलेंसिंग एक्सरसाइज, जो यह तय करता है कि कौनसा स्टॉक निफ्टी में रहेगा, कौन-सा नया स्टॉक आएगा और कौन-सा मौजूदा शेयर निफ्टी से बाहर जाएगा। यह प्रोसेस हर साल जून और दिसंबर में होती है।

समय के साथ बदलता है निफ्टी

समय के साथ निफ्टी का सेक्टोरल रूप बदल गया है। अपनी स्थापना के समय निफ्टी में कोई भी टेक्नोलॉजी कंपनी नहीं थी और केवल एक निजी बैंक था। आज निफ्टी की टॉप-10 कंपनियों में चार निजी बैंक हैं और इंफोसिस और टीसीएस के रूप में दो बड़ी आईटी कंपनीज हैं। लेकिन इसमें कोई सरप्राइस नहीं होगा कि आने वाले 5, 10 और 20 सालों में निफ्टी अभी से काफी बदल जाएगा। समय के साथ ऑप्शंस ट्रेडिंग के लिए कौन सी ब्रोकरेज अच्छी है? हम नई कंपनीज और नए सेक्टर्स को उभरते हुए देखेंगे। जैसे 5 साल पहले यहां कोई इंश्योरेंस कंपनी नहीं थी, लेकिन आज है। इसी तरह ई-कॉमर्स और इंटरनेट कंपनियां पहले पूरी तरह प्राइवेट थीं, लेकिन आज हमारे पास जोमैटो है। इसके बाद फ्लिपकार्ट, पेटीएम, बायजू और दूसरे नए कंज्यूमर फेसिंग बिजनस इसे फॉलो करेंगे।

निफ्टी50 ने अपनी यात्रा 1000 पॉइंट्स की बेस वेल्यू से शुरू की थी। आज यह 18,000 के स्तर को पार कर गया है। इस तरह इसने गोल्ड और रियल एस्टेट जैसे दूसरी एसेट क्लास की तुलना में काफी अधिक रिटर्न दिया है। हालांकि, इक्विटी मार्केट्स के नेचर को दर्शाते हुए निफ्टी 50 में कई उतार-चढ़ाव भी आए हैं। जैसे साल 2008 में निफ्टी 50 फीसद से अधिक गिर गया और अगले ही साल 2009 में 76 फीसद बढ़ गया।

#6 Religare

रेलिगेयर सिक्योरिटीज लिमिटेड एक Financial Service Group है जो ऑनलाइन और ऑफ़लाइन दोनों प्लेटफार्मों पर 8 लाख से ज्यादा लोगो को सेवाए प्रदान कर रही है|

आप इसके चार्जेज और सेवाओ को देख कर अपने लिए चुनाव कर सकते है –

  • RSL में आप एक खाते के माध्यम से इक्विटी, डेरिवेटिव, मुद्रा, वायदा, कमोडिटीज और म्यूचुअल फंड आदि सभी में निवेश कर पाएँगे|
  • यह आपको एक मोबाइल ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करता है, जिसकी मदद से आप किसी भी समय और कही से भी ट्रेडिंग कर पाएँगे|
  • और आपको Intraday Reporting के साथ Historical Chart की सुविधा भी प्रदान करता है|

  • Trading Account ऑप्शंस ट्रेडिंग के लिए कौन सी ब्रोकरेज अच्छी है? Opening Charges Rs. 0
  • Demat Account Opening Charge Rs. 0
  • Demat Account Maintenance 1st Year Free (Rs. 500 Yearly)
  • Intraday Charges 0.05%
  • Delivery 0.50%

#7 Aditya Birla

आदित्य बिरला का नाम आपने कई बार सुना होगा – यह फाइनेंसियल सर्विस कंपनी बहुत ही Low चार्जेज के साथ अधिक फायदा पहुंचती है|

इसमें डीमेट खाता के खर्च भी कम है और मार्जिन भी कई गुना ज्यादा है –

  • Demat Account Open करने ऑप्शंस ट्रेडिंग के लिए कौन सी ब्रोकरेज अच्छी है? के लिए Rs. 0 रूपये का चार्ज लगता है|
  • Demat Account Maintenance का 450 रुपये सालाना खर्च|
  • Trading Account Open करने का चार्ज Rs. 750 रूपये और
  • Trading Account Maintenance का चार्ज भी Rs. 0 रुपये|

Margin Provided

  • Commodity पर 4 गुना|
  • Equity Delivery पर 5 गुना|
  • Equity Intraday पर 15 गुना|
  • Currency Futures पर 3 गुना|
  • Equity Futures पर 3 गुना मार्जिन है|
  • Intraday Selected Nifty Script – 40 गुना

#8 Kotak Securities

कोटक आपको एक ऐसा Demat Account प्रदान करता है जिससे आप इक्विटी, म्यूचुअल फंड और मुद्रा डेरिवेटिव सभी ऑप्शंस ट्रेडिंग के लिए कौन सी ब्रोकरेज अच्छी है? में आसानी से निवेश कर पाएँगे|

इसके साथ ही शेयर्स, बांड, प्रतिभूतियां, म्यूचुअल फंड्स और एक्सचेंज सभी के प्रमाण पत्र एक साथ एक ही जगह पर रख पाएँगे| यह मुख्य रूप से Traders और Investors लिए बहुत ही उपयोगी व फ्रेंडली Demat Account है|

कोटक सिक्योरिटीज अपने निवेशको को आवश्यकता के अनुसार 4 प्रकार के ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करता है|

  • इसकी शेयर ट्रेडिंग वेबसाइट जो कही से भी एक्सेस हो सकती है और धीमी गति के इंटरनेट के साथ भी निवेशक इसका उपयोग कर सकते है|
  • कोटक एक Mobile App भी प्रदान करता है जिसके जरिये Trades execute कर सकते हैं, पोर्टफोलियो मॉनिटर कर सकते हैं, स्ट्रीमिंग कोट्स और इंट्राडेट चार्ट देख सकते हैं।
  • इसमें 1400 से अधिक शाखाओं के माध्यम से निवेशको को सुविधा प्रदान करता है।
  • कोटक कई सारे Investment Option प्रदान करती है| यह अपने ग्राहकों को SMS अलर्ट, बाजार पॉइंट्स, प्रियोडीकल रिपोर्ट आदि की सुविधाए के साथ साथ ऑनलाइन चैट की सुविधा भी देती है|

Stock Market Trading: बेस्ट करियर ऑप्शन में से एक है स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग, जानें कैसे करें कोर्स

word-stocks-decreasing-coins

Image credit: freepik

  • स्टॉक मार्केट क्यों है बेस्ट करियर ऑप्शन?
  • जानें कोर्स के लिए कौन-सी योग्ताएं हैं जरूरी
  • इस फील्ड में जॉब करने से मिलते हैं कई फायदे
  • आप अपने खुद के मालिक हो सकते हैं।
  • करेक्ट नॉलेज और स्ट्रेटजी के साथ, आप मार्केट से अच्छा पैसा कमा सकते हैं।
  • आप कैश मार्केट (cash market) से डेरिवेटिव मार्केट (derivative market) तक बढ़ ऑप्शंस ट्रेडिंग के लिए कौन सी ब्रोकरेज अच्छी है? सकते हैं और लीवरेज को अपना फ्रेंड बना सकते हैं
  • आप रिसर्चर या ट्रेनर भी बन सकते हैं
  • आप सेबी पंजीकृत निवेश सलाहकार (SEBI registered Investment Advisor) या सेबी पंजीकृत अनुसंधान विश्लेषक (SEBI registered Research Analyst) बन सकता है और कंसल्टिंग कर सकते हैं।

शेयर मार्केट में Option Trading क्या है, Call और Put क्या है

शेयर मार्केट में बहुत सारे लोगों को नहीं पता Option Trading क्या है, Call और Put क्या है। शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग करने के लिए बहुत सारे माय्धाम है उनमे से एक है Option Trading। बहुत सारे लोग शेयर मार्केट में Call & Put खरीद करके ट्रेडिंग करते हैं। आज हम सरल भाषा में जानेंगे Option Trading कैसे करे, क्या हैं-

Option Trading क्या हैं:-

आपको नाम से ही पता लग गया होगा Option का मतलब विकल्प। उदाहरण के लिए- मान लीजिये आप एक कंपनी का 1000 शेयर 5000 रुपये प्रीमियम देकर 1 महीने बाद का 100 रुपये में खरीदने का Option लेते हो। ऐसे में उस कंपनी का शेयर 1 महीने बाद 70 हो गया तब आपके पास विकल्प (Option) रहेगा उस शेयर को नुकसान में ना खरीदने का।

ऐसे में आपका प्रीमियम का पैसा डूब जायेगा। आप्शन ट्रेडिंग में नुकसान आपका उतना ही है जितना पैसा आपने प्रीमियम लेते समय दिया था। तो ऐसे में नुकसान कम से कम करने के लिए Option का प्रयोग होता हैं।

Call और Put क्या है:-

Option Trading दो तरह का होता है एक है Call और दूसरा Put। ऑप्शन ट्रेडिंग में आप दोनों तरफ पैसा लगा सकते हैं। आप यदि Call खरीद रहे हो तो तेजी की तरफ पैसा लगा रहे हो ठीक उसी तरह Put खरीदते हो तो मंदी की तरफ पैसा लगा रहे हो। आप जिस प्राइस के ऊपर Call खरीदा उसके ऊपर का प्राइस जाने के बाद ही आपको फ़ायदा होगा। ठीक उसी तरह Put खरीदा तो जिस प्राइस के ऊपर खरीदा उसके नीचे गया तो ही आपको फ़ायदा होगा।

Option Trading का Expiry कब होता है:-

Option Trading में दो तरह का Expiry होता है एक होता है सप्ताह और दूसरा होता है महीना में। सप्ताह (Weekly Expiry) में हर गुरूवार को ही NIFTY 50 और BANK NIFTY का expiry होता हैं। महीना में शेयर का अंतिम गुरूवार expiry होता है, जो शेयर Option Trading में लिस्टेड हैं।

शेयर मार्केट में Option Trading क्या है, Call और Put क्या है

Option Trading कैसे करे:-

ऑप्शन ट्रेडिंग करने के लिए आप एक कंपनी का 1 शेयर नहीं खरीद सकते आपको LOT में खरीदना पड़ेगा. Nifty50 का एक Lot 75 का होता है लेकिन शेयर में ज्यादा होता हैं। किसी भी शेयर और Nifty50, Bank NIfty का Option खरीदने के लिए आपको जाना होगा आपके Demat Account में। उसके बाद जो भी खरीदना है उसमे आपको देखने को मिलेगा Option Chain आप उस पर से आपको Call या Put जो भी खरीदना है खरीद सकते हैं।

क्या आपको Option Trading करना चाहिए हमारी राय:-

दोस्तों आप यदि नए हो शेयर मार्केट में तो आपको इतना जोखिम नहीं लेना है। आपको लंबे समय के लिए शेयर में इन्वेस्ट करना चाहिए। Option Trading बहुत ज्यादा रिस्क भी है और रिवॉर्ड भी। आप यदि सही तरीके से पैसा लगाएंगे तो आपको बहुत अच्छा मुनाफा होगा। किसी के दिए हुए नुस्के से आप बिल्कुल मत इन्वेस्ट करो आप पहले सीखिए उसके बाद इन्वेस्ट करे।

mis in zerodhazerodha margin calculator 2022

इसके संबंधित सभी जानकारी आप लोग जीरोधा मार्जिन कैलकुलेटर के माध्यम से निकाल सकते हैं | वैसे zerodha margin calculator 2022 काफी प्रचलित मार्जिन कैलकुलेटर में से एक है | मार्जिन कैलकुलेटर इस्तेमाल करना बेहद आसान है | इस mis in zerodha पोस्ट को पूरा अवश्य पढ़ें! अगर आप भी एक ही बार में zerodha margin calculator 2022 को सीखना चाहते हैं तो|

ज़ेरोधा की आधिकारिक zerodha.com वेबसाइट में zerodha margin calculator 2022 को चार भागों में विभाजित किया गया है:

zerodha margin calculator kya HAi

रेटिंग: 4.89
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 217